वेतन को लेकर सीटू करेगा 20 को चक्का जाम

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

सीटू जिला महासचिव राम सागर ने मजदूरों की समस्याओं को रखते हुए 20 जुलाई 2018 को जनपद मे एक दिवसीय हड़ताल करने औऱ हड़ताल की तैयारी के लिए पूरे जिले मे व्यापक जन अभियान चलाने का प़स्ताव रखा।

नोएडा। मजदूरों पर बढ़ते उत्पीडऩ एवं न्यूनतम वेतन मे बढ़ोत्तरी व अन्य मांगो पर सघर्ष की रणनीति तय करने के लिए सीटू जिला कमेटी गौतमबुध्दनगर की विस्तारित बैठक रविवार 17 जून को सीटू जिला कार्यालय सैक्टर-8, नोएडा पर हुई बैठक की अध्यक्षता सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने किया।
बैठक को सम्बोधित करते हुए सीटू जिला महासचिव राम सागर ने मजदूरों की समस्याओं को रखते हुए 20 जुलाई 2018 को जनपद मे एक दिवसीय हड़ताल करने औऱ हड़ताल की तैयारी के लिए पूरे जिले मे व्यापक जन अभियान चलाने का प़स्ताव रखा। बैठक को सम्बोधित करते हुए सीटू दिल्ली एनसीआर के वरिष्ठ नेता कामरे? लक्ष्मी नारायण ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान मोदी व बीजेपी नेताओं व आरएसएस प्रचारकों ने किसानों को उनकी फसलों का लागत का डेढ गुना दाम दिलाने, हर साल 2 करोड नौजवानों को रोजगार देने, विदेशों से कालाधन लाकर 15 लाख रूपये हरेक के खाते में जमा कराने, भष्टाचार समाप्त करने, जनता से अच्छे दिन लाने आदि आदि का वायदा किया था। उन वायदों को पूरा करना तो दूर मोदी व बीजेपी नेता-आरएसएस के प्रचारक इन मुद्दों पर बात तक करने को तैयार नहीं। चार सालों में मोदी ने मनमोहन सिंह सरकार द्वारा अपनाई गई उदार आर्थिक नीतियों को ही और ज्यादा तेजी व आक्रामकता के साथ लागू किया है।
जिनका नतीजा है किसान बर्बाद हो रहे हैं। नौजवानों में बेरोजगारी तेजी से बढ़ी है। मजदूरों का दमन शोषण उत्पीडऩ बढ़ा है। महिलाओं, दलितों अल्पसंख्यकों पर हमले तेज हुए हैं। वही उत्तर प़देश मे भाजपा की योगी सरकार बनने के बाद मजदूरों के उत्पीडऩ दमन शोषण मे वृद्धि हुई और मालिकानो के होशले बुलंद है औऱ सरेआम श्रम कानूनों की धज्जियां उडा रहे है। बैठक को सम्बोधित करते हुए सी.आई. टी.यू दिल्ली एनसीआर राज्य कमेटी महासचिव का. अनुराग सक्सेना ने केन्द्र व प्रदेश सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों औऱ श्रम कानूनों मे किए जा रहे मजदूर विरोधी संशोधनो को रखते हुई मजदूर आंन्दोलन को तेज करने का आहा्वान किया औऱ उपरोक्त आन्दोलन मे सभी टे्ड यूनियनो औऱ मजदूरों को शामिल करने की अपील किया। बैठक मे विचार विमर्श के बाद 20 जुलाई 2018 को हड़ताल/ जिला बन्द करने का निर्णय लिया गया ।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें