वायुसेना के कैप्टन ने छत पर उतारा चॉपर, बचाई 26 की जान

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

पनी बहादुरी और विषम परिस्थितियों में भी लोगों की जान बचाने के दृढ़ निश्चय को पूरा करते हुए उन्होंने इस बात की बानगी दी है कि सेना किस हद तक जाकर राज्य में लोगों की जान बचा रही है।

तिरुवनंतपुरम। केरल में बाढ़ ने तांडव मचा रखा है और 10 दिन में 173 लोगों को यह विभीषिका लील चुकी है। राज्य में इस तबाही के बीच थल सेना, वायुसेना और नौसेना देवदूत की भूमिका निभा रही हैं। यहां तक कि वीर जवान सच में फरिश्तों की तरह जमीन पर उतरकर लोगों की जान बचा रहे हैं। दरअसल, कैप्टन कुमार ने एक ऐसे इलाके से 26 लोगों को एयरलिफ्ट किया जहां मौजूदा स्थिति में इंसान का जाना बेहद मुश्किल था। घने पेड़ों के बीच कैप्टन कुमार ने सी किंग 42क्च चॉपर घर की छत पर ले जाकर इन लोगों को बचाया।
ऑपरेशन के अंत कर वह 32 लोगों की जान बचा चुके थे। अपनी बहादुरी और विषम परिस्थितियों में भी लोगों की जान बचाने के दृढ़ निश्चय को पूरा करते हुए उन्होंने इस बात की बानगी दी है कि सेना किस हद तक जाकर राज्य में लोगों की जान बचा रही है। सेना नैशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (हृष्ठक्रस्न), इंडियन कोस्ट गार्ड और रैपिड ऐक्शन फोर्स के साथ मिलकर राज्य को आपदा से राहत दिलाने में जुटी है। इससे पहले नौसेना ने एक विडियो जारी किया था, जिसमें देखा जा सकता है कि नेवी का हेलिकॉप्टर एक गर्भवती महिला को बचा रहा है। विडियो में देखा जा सकता है कि महिला की मदद के लिए हेलिकॉप्टर से रस्सी लटकाई गई है, जिसे महिला की कमर से ऊपर बांध दिया जाता है और धीरे-धीरे उन्हें ऊपर खींच लिया जाता है। इस दौरान महिला के गर्भाशय से लगा वॉटर बैग भी लीक हो गया था।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें