वन-वे खत्म होने से चरमराएगा ट्रैफिक

नोएडा। उद्योग मार्ग और हरौला मार्ग की वन-वे व्यवस्था समाप्त करने का चौतरफा विरोध शुरू हो गया है। यहां उद्योगपतियों का कहना है कि जाम लगने की वजह से वन वे नहीं है बल्कि वनवे होने के बाद उद्योग मार्ग पर होने वाला अतिक्रमण है। नोएडा एंटरप्रिनियोर्स एसोसिएशन (एनईए) के पदाधिकारियों ने वन-वे समाप्ति का विरोध किया है। उद्योग मार्ग पर बनी फैक्ट्रियों के मालिकों का कहना है कि यदि वन-वे व्यवस्था समाप्त होगी तो यहां पर यातायात व्यवस्था चरमरा जाएगी, क्योंकि जब यह मार्ग दोतरफा थे तब जाम की स्थिति बनी रहती थी। जाम से निपटने के लिए ही वन वे व्यवस्था की गई।

अतिक्रमण होगा तो लगेगा जाम
यातायात पुलिस और नोएडा प्राधिकरण की लापरवाही है कि वन-वे होने के बाद भी उद्योग मार्ग और हरौला मार्ग पर जाम की स्थिति बनी रहती है। कार के बड़े-बड़े शोरूम अपनी-अपनी गाडिय़ां सड़क पर खड़ी कर देते हैं जिससे अतिक्रमण के कारण अव्यवस्था फैलती है। जरूरत है कि प्राधिकरण सड़क पर अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करे ताकि यातायात व्यवस्था को सुगम बनाया जा सके।

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment