राम की मूर्ति के लिए दो सौ करोड़

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

लखनऊ। प्रदेश की योगी सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले 4.79 लाख करोड़ का बजट पेश किया। इस बजट में नई योजनाओं के लिए 21,212 करोड़ का प्रवाधान है। बजट पेश करने से पहले सीएम ने कहा कि यह बजट आम जनता का बजट है। इस बजट में प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के लिए 6,240 करोड़ रुपये की व्यवस्था है। ्रकैंसर संस्थान लखनऊ के लिए 248 करोड़ रुपये का ऐलान और लखनऊ में अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय के लिए 50 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में आयुष विश्वविद्यालय खुलेगा। इसके लिए बजट में 10 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया। प्रदेश के ग्रामीण अंचलों में लग रहे 500 हाट-पैठ का विकास 150 करोड़ रुपये की लागत से मंडी परिषद द्वारा किए जाने का निर्णण लिया गया है। 2019-20 के लिए 1840 रुपये प्रति क्विंटल की दर से 6000 क्रय केंद्रों के माध्यम से गेहूं क्रय किया जाना का भी प्रस्ताव इस बजट में है। इस बार किसानों पर सरकार का विषेश जोर रहा इसी क्रम में 60.51 लाख क्विंटल बीज वितरण और 77.26 लाख मीट्रिक टन उर्वरक वितरण का लक्ष्य।

बजट की बड़ी बातें
पिछले बजट के मुकाबले 12 प्रतिशत अधिक है यह बजट । उत्तर प्रदेश में 10 लाख 10 हजार और लोगों को आयुष्मान भारत के दायरे में लाया जाएगा। मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत यूपी सरकार ने 111 करोड़ रुपये का बजट तय किया। गांवों में गोवंश के रख-रखाव पर 247 करोड़ और शहरों में कान्हा गोशाला के लिए 200 करोड़ रुपये। सहकारी क्षेत्र की बंद चीनी मिलों के लिए 50 करोड़ रुपये और पीपीपी मोड़ पर चलाने के लिए 25 करोड़ रुपये। पुलिसकर्मियों के बैरक के लिए 700 करोड़। टाइप ए, बी के लिए 700 लकरोड़।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें