मेरा इस्तीफा भाजपा के ताबूत में कील : फुले

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

लखनऊ। सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा है कि उनका इस्तीफा भाजपा के लिए ताबूत की कील साबित होगा। उन्होंने कहा कि में बहुजन व दलित की आवाज को दबाया जा रहा है। सावित्री बाई फुले ने कहा कि वे दल का तलवा चाटने नहीं आई हैं। मैं आरक्षण को बचाने व दलित अधिकार के संघर्ष के लिए आई हूं। मेरे लिए आरक्षण महत्वपूर्ण है। आरक्षण बरकरार रहेगा तो सांसद बनने से कोई नहीं रोक सकत।


लखनऊ में मीडिया से बातचीत में सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा कि बहुजन समाज के दुश्मनों को जवाब देने के लिए वह किसी भी हद तक जाएंगी। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार, डॉ आंबेडकर द्वारा बनाए गए संविधान को बदलने और दलितों व पिछड़ों को मिल रहे आरक्षण को खत्म करने का तानाबाना बन चुकी है। सावित्री बाई फुले ने कहा, मेरा इस्तीफा बीजेपी के ताबूत की कील साबित होगा. जब से मैं चुनाव जीती हूं तभी से मेरी आवाज को पार्टी में दबाने की कोशिश की जा रही है। दिल्ली में संविधान की प्रतियां जलायी गयीं।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment