मेट्रो में आग ले सकती सियासी रूप

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

नोएडा। बृहस्पतिवार को सेक्टर-12 के मेट्रो अस्पताल में लगी आग सियासी रूप ले सकती है। इसके लिए कुछ लोग सक्रिय बताए गए हैं। हालांकि इस मामले की मजिस्ट्रेट जांच शुरू हो गई है। 15 दिन में सिटी मजिस्ट्रेट को जांच पूरी करनी है।
इसमें कोई शक नहीं कि आग बहुत भयंकर थी लेकिन अस्पताल के स्टाफ और अग्निशमन विभाग की सूझ-बूझ और मेहनत से किसी भी मरीज या तिमारदारों को नुकसान नहीं हुआ। अस्पताल के सीएमडी डॉ. पुरुषोत्तम लाल खुद मौके पर रहे। अब जांच में फायर की एनओसी न होना, प्राधिकरण से कंप्लीशन न होना, अस्पताल प्रबंधन के लिए मुश्किल खड़ा कर सकता है। हालांकि दोनों ही मामलों में अस्पताल प्रबंधन का कार्रवाई करने का दावा है। इसी को लेकर कुछ लोग फायर दफ्तर से लेकर प्राधिकरण में छानबीन कर रहे हैं।
यही मामला सियासत का रूप ले सकता है। क्योंकि अस्पताल का भवन मानकों के अनुसार नहीं बना है। हालांकि नोएडा में तमाम अस्पतालों में कुछ न कुछ निर्माण नियमों के उलट किए गए हैं। लेकिन जांच वहीं होती हैं जहां कुछ घट जाता है।
इसलिए अस्पताल प्रबंधन के लिए मुश्किल खड़ी हो सकती है। जान का नुकसान नहीं होने देना यहां तक कि किसी मरीज को चोट तक न लगना। जांच में उसके कितने काम आएगा यह देखने वाली बात होगी।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें