बुलंदशहर और बहराइच में आस्था से जुड़े आयोजनों को लेकर जमकर हुआ बवाल, चले पथराव और हुई फायरिंग

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 1
    Share

लखनऊ। बुलंदशहर और बहराइच में आस्था से जुड़े आयोजन बवाल-ए-जान बने। दो पक्ष आमने सामने आ गए। पथराव और फायरिंग के हालात बने। इसके चलते तनाव फैल गया। बाद में पुलिस ने दोनों जगह उपजे विवादों को बल प्रयोग कर काबू किया। बुलंदशहर में शोभायात्रा में रायफल और पिस्टल से ताबड़तोड़ फायरिंग करने से भगदड़ मची और तनाव फैला जबकि बहराइच में मूर्ति स्थापना को लेकर दो समुदाय के लोग टकरा गए। तनाव को देखते पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू की और निगरानी बढ़ा दी है। फिलहाल दोनों स्थानों पर हालात नियंत्रण में हैं।
बहराइच के सिसई सलोन में बिना परमीशन मूर्ति स्थापना को लेकर दो समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। दुर्गा प्रतिमा तोडने की कोशिश की गई। ईंट-पत्थर चले। पुलिस कर्मियों पर भी पथराव के साथ फायरिंग की गई। हालात को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठियां भी भांजी। तनाव की स्थिति देख मौके पर पुलिस व पीएसी तैनात कर दिया गया है। 32 नामजद व 250 अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने 15 लोगों को हिरासत में भी ले लिया है।
रात भर तनाव में गुजरने की बाद जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव और पुलिस अधीक्षक सभाराज ने घटनास्थल का मुआयना कर दोषियों पर कार्रवाई करने की बात कही। तनावपूर्ण स्थिति को देखते मौके पर पुलिस व पीएससी बल तैनात कर दिया गया है। इसके बाद से उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी अभियान में तेजी आई है। शाम तक एडीजी और डीआइजी भी धरना स्थल पर पहुंच गए।
घटनाक्रम के मुताबिक सिसई सलोन में प्राथमिक विद्यालय के पास स्थित कुएं पर बिना आज्ञा के दुर्गा प्रतिमा रख दी गई। इस बात को लेकर विशेष समुदाय के लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। दोनों समुदायों के बीच ईंट-पत्थर चलने लगे। इस बात की सूचना पुलिस को मिली तो एसओ पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए।
दोनों समुदाय के लोगों को समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन मौके पर मौजूद भीड़ काफी उग्र हो गई। विशेष समुदाय के लोगों द्वारा दुर्गा प्रतिमा को तोडऩे का प्रयास किया गया। उग्र भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठियां भांजनी शुरू कर दी। इसी दौरान भीड़ द्वारा पुलिस पार्टी पर असलहों द्वारा फायर के साथ ईंट-पत्थर चलाए गए, जिससे अफरातफरी मच गई। लोगों ने घरों के खिड़की-दरवाजे बंद कर लिए।
हालात बेकाबू देखकर उच्चाधिकारियों को सूचना दी गई। जानकारी पाकर एडीएम राम सुरेश, एसडीएम जुबेर बेग, एएसपी ग्रामीण रवींद्र सिंह कई थानों की पुलिस व पीएसी के जवानों के साथ मौके पर पहुंच गए। रिसिया एसओ आरपी यादव की तहरीर पर पुलिस ने 32 नामजद व 250 लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास, बलवा समेत कई अन्य आपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज कर 15 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। घटना के आठ घंटे बाद डीएम माला श्रीवास्तव व एसपी सभाराज ने घटनास्थल का जायजा लिया। एसपी ने बताया कि मौके पर पुलिस बल तैनात है। स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। बुलंदशहर के गांव पूठीनसीराबाद में अखंड ज्योति की शोभायात्रा में दो शराबियों ने लाइसेंसी रायफल और पिस्टल से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इससे भगदड़ मच गई। पुलिस ने एक आरोपित को दबोच लिया, जबकि दूसरा फरार हो गया।
गांव पूठी नसीराबाद निवासी ओमपाल लोधी और प्रेमवीर लोधी दिल्ली कालका मंदिर व झंडेवालान से बुधवार को अलग-अलग दो अखंड ज्योति लेकर आए थे। शोभायात्रा डीजे के साथ निकाली जा रही थी। इस दौरान ही पीछे से आ रही प्रेमवीर वाली शोभायात्रा को अमरपाल लोधी ने आगे निकलने के लिए साइड दे दी। प्रेमवीर वाली अखंड ज्योति वाले डीजे पर चढ़कर दो शराबियों ने ताबड़तोड़ हवाई फायरिंग करनी शुरू कर दी।
पुलिस ने फायरिंग करने वाले एक आरोपित को पकड़ लिया। दूसरा साथी मौके से फरार हो गया। आरोपित के पकड़े जाने के बाद प्रेमवीर गुट के श्रद्धालुओं ने दूसरी अखंड ज्योति की शोभायात्रा को निकलने से रोक दिया।

बाद में पुलिस ने अपनी मौजूदगी में शोभायात्रा को निकलवाई। फायरिंग मामले को लेकर दो पक्षों में तनाव का माहौल बना है। थाना प्रभारी अवनीश कुमार ने बताया कि फरार आरोपित की तलाश की जा रही है।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 1
    Share

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment