बार एसोसिएशन ने रद की महिला अधिवक्ता की सदस्यता

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 2
    Shares

मेरठ। शराब के नशे में मेरठ में बीते चार दिन से चर्चा में चल रहीं महिला अधिवक्ता दीप्ति चौधरी की सदस्यता जिला बार एसोसिएशन ने रद कर दी है। कल देर शाम एसएसपी ऑफिस से लेकर कैंट स्थित सीडीए ऑफिस तक चार लोगों को टक्कर मारने वाली महिला अधिवक्ता दीप्ति चौधरी ने शराब के नशे में लालकुर्ती थाने में भी खूब हंगामा किया था। जिसके बाद उसके खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हुए थे। इसी मामले में दीप्ति को आज कोर्ट में पेश किया गया।
मेरठ में कल महिला अधिवक्ता दीप्ति चौधरी को थाना में हाईवोल्टेज तथा ड्रंक एंड ड्राइव के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। आज पुलिस ने दीप्ति चौधरी को कोर्ट में पेश किया। इसी दौरान विवादों में घिरी दीप्ति चौधरी को जिला बार एसोसिएशन ने निलंबित कर दिया। इसी बीच दीप्ति को कोर्ट में पेश किया गया। जहां पर एसीजीएम-पंचम की कोर्ट ने 20 हजार रुपया की जमानत कर रिहा कर दिया।
मेरठ के हाईवे पर ब्लैक पेपर रेस्टोरेंट में दरोगा के साथ हंगामा करने को लेकर चर्चा में आई अधिवक्ता दीप्ति चौधरी ने कल रात शराब के नशे में एसएसपी ऑफिस से लेकर लालकुर्ती थाना तक खूब ड्रामा किया था। जिसके बाद दीप्ति को गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में जिला बार एसोसिएशन ने इस संबंध में एक बैठक की और उसकी सदस्यता रद कर दी। जिला बार एसोसिएशन के महामंत्री प्रवीण कुमार सुधार ने बताया कि महिला की पहले भी कई बार शिकायत मिल चुकी थी। इस बार की शिकायत माफ करने लायक नहीं है इसलिए उनकी सदस्यता रद की गई है।
वहीं महिला मेरठ बार एसोसिएशन की तरफ से आज एक कमेटी गठित की गई है। जिसका आज शाम या शुक्रवार तक निर्णय आएगा कमेटी ही तय करेगी कि मेरठ बार एसोसिएशन की सदस्यता दीप्ति चौधरी के पास रहेगी या नहीं। गौरतलब है कि महिला अधिवक्ता और दरोगा ने भाजपा पार्षद मनीष चौधरी के रेस्टोरेंट में भी हंगामा किया था जिसके बाद मनीष चौधरी ने दरोगा को पीटा और दरोगा ने मनीष चौधरी को।
मेरठ में कल दीप्ति चौधरी ने कचहरी से बाउंड्री रोड तक कार दौड़ाते हुए कई वाहनों को टक्कर मार दी। पुलिस ने महिला को पकड़ा तो उसने थाने में जमकर हंगामा किया। पुलिस अधीक्षक रणविजय सिंह ने बताया महिला के खिलाफ सार्वजनिक स्थल में हंगामा करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। पुलिस ने महिला को किसी प्रकार काबू कर मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेजा।
महिला वकील दीप्ति चौधरी और उनके साथी दरोगा सुखपाल सिंह के साथ मारपीट के मामले में पुलिस ने बीते दिनों भाजपा पार्षद मनीष चौधरी को गिरफ्तार करके जेल भेजा था।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 2
    Shares

संबंधित ख़बरें