बसपा से गठबंधन पर बोले अखिलेश : जरूरत पड़ी तो सीटों का भी करेंगे त्याग

मैनपुरी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा से गठबंधन पर एक बार फिर अपना पक्ष स्पष्ट कर दिया है। उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद भी बसपा के साथ उनकी पार्टी का गठबंधन किसी भी शर्त पर जारी रहेगा। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा कि अगर गठबंधन के लिए सीट बंटवारे में त्याग भी करना पड़े तो वह उसके लिए तैयार हैं।अखिलेश यादव ने कहा कि यह लड़ाई लंबी है। बसपा के साथ गठबंधन जारी रहेगा।  हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि बीजेपी की हार तय हो। जरूरत पड़ी तो समाजवादी लोग त्याग करने में पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं को बसपा का सहयोग करने के निर्देश भी दिए। इस मौके पर अखिलेश का सरकारी बंगले को खाली करने का दर्द भी झलका। उन्होंने कहा कि पारिवारिक झगड़े के वक्त बीजेपी के लोग हमें औरंगजेब कहते थे। आज हमारे साथ ही नेताजी का मकान भी खाली करा दिया।

अखिलेश ने कहा कि नेताओं को घर में उलझाकर बीजेपी ने 2019 के लोकसभा चुनाव को निकालने की चाल चली है। लेकिन वे भूल गए हैं कि सपाई जब मैदान में आएंगे तो बीजेपी कहीं नजर नहीं आएगी।अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के खिलाफ लड़ाई लंबी है। इस लड़ाई को पुराने लोगों ने यहां तक पहुंचाया है। इस लड़ाई को हमें और नौजवानों को लडऩा है। इसके तहत हमने बसपा से गठबंधन किया है। अखिलेश ने कहा कि यह गठबंधन लोकसभा चुनाव से आगे भी जारी रहेगा। विधानसभा चुनाव में भी गठबंधन रहेगा। अगर दो-चार सीटें ऊपर-नीचे रहीं तो हम समाजवादी लोग त्याग करने में पीछे नहीं हटेंगे। बसपा को समर्थन देकर बीजेपी को नीचे ले जाने का काम करेंगे। अखिलेश ने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि हमने गठबंधन ऊपर से किया है। वह नीचे स्तर पर बसपा कार्यकर्ताओं का सहयोग करें, उनका साथ दें और उनसे गठबंधन करें। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि बीजेपी की हार तय हो, जरूरत पड़ी तो समाजवादी लोग त्याग करने में पीछे नहीं हटेंगे

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment