बरसात का कहर चार की मौत

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें


नोएडा। पिछले 24 घंटे से जिले में अलग-अलग स्थानों पर बारिश रुक-रुक कर हो रही है। बारिश ने कहर बरपाया है देर रात करीब 10:00 बजे थाना रबूपुरा क्षेत्र के अंतर्गत एक मकान की दीवार गिर गई। घर के अंदर 12 लोग दब गए जिसमें दो बच्चियों की अस्पताल ले जाते वक्त मौत हो गई। 10 लोगों को उपचार के लिए निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।
थाना प्रभारी विनीत कुमार ने बताया कि गांव दुबली से सूचना आई कि एक मकान के दीवार गिर गई है। जिस पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। सभी लोगों को राणा अस्पताल में भर्ती कराया गया है वही साइट-5 क्षेत्र के अंतर्गत गांव सिरसा में एक मकान की छत गिरने से एक युवक की मौत हो गई। जबकि महिला समेत दो लोग घायल हो गए। एसएसपी के पीआरओ प्रभात दीक्षित ने बताया कि साइट-5 के सिरसा में विजय पाल सिंह के मकान की छत गिर गई। जिसमें विनोद पुत्र बाबू की मौत हो गई। जबकि विजयपाल की पत्नी हरबती और 7 वर्षीय विश्वकर्मा छत के नीचे दबकर घायल हो गए।
उधर थाना बिसरख क्षेत्र के अंतर्गत फ्लोरा सोसाइटी में बालकनी से पैर फिसल कर महिला चौधरी मंजिल से नीचे गिर गई। उसकी मौके पर ही मौत हो गई थाना प्रभारी मनोज पाठक ने बताया कि ग्रेनो वेस्ट में फ्लोरा सोसायटी बनी है। यहां आज सुबह महिला बालकनी में बारिश का पानी आने के बाद सफाई कर रही थी इसी दौरान उनका पैर फिसला और वह चौधरी मंजिल से नीचे गिर गई।
महिला का नाम दिव्यांश बताया गया है। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस मामले में दिव्यांश के परिजनों ने पुलिस से कार्रवाई के लिए मना किया है। वहीं नोएडा में अलग-अलग स्थानों पर बारिश होने से कहीं ना ले की दीवार गिर गई, तो कहीं पेड़ टूट कर गाडयि़ों पर गिर गए खबर लिखे जाने तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं थी।

प्राधिकरण दफ्तर के आस-पास नहीं भरा पानी
आज सुबह आई मूसलाधार बारिश ने प्राधिकरण की व्यवस्थाओं की पोल खोल कर रख दी। शहर के मुख्य मार्गो पर जल निकासी ना होने की वजह से सड़कें तालाब में तब्दील हो गई। अलग-अलग मार्गों पर वहां फंसे खड़े रहे । इतना ही नहीं सुबह सुबह दफ्तर के लिए जा रहे लोग जाम होने की वजह से दफ्तर भी देरी से पहुंचे। पहली बार प्राधिकरण के आसपास नहीं भरा पानी बारिश होते ही सेक्टर छह स्थित प्राधिकरण कार्यालय के बाहर सड़कें जलमग्न हो जाती है, लेकिन इस बार यहां पानी निकासी व्यवस्था पहले से ही कर दी गई। जिससे कि इस बार पानी नहीं भर पाया हालांकि विभिन्न इलाकों में सड़कें तालाब के रूप में बदल गई। सेक्टर 8 9 और 10 में जल निकासी व्यवस्था नहीं होने की वजह से सड़कों पर पानी जमा हो गया यदि और तेज बारिश होती तो निकलना भी बेहद मुश्किल हो जाता।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment