बंधक बनाकर करा रहा था मजदूरी

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

ईंट के भट्टे पर शर्मसार हुई मानवता, एफआईआर
दादरी। एक जमाना था जब सुनने को मिलता था कि दबंग लोगों ने नीची जाति के लोगों को बंधक बनाकर उनसे जबरन काम कराया और उन्हें रुपए भी नहीं दिए। लेकिन आज के जमाने में भी इस तरह की बात सुनने को मिले तो लगता है जैसे मानो कोई फिल्मी कहानी हो। लेकिन हकीकत में ऐसा हुआ है।
कोतवाली दादरी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले एक ईंट के भट्टे पर भट्टा मालिक ने अलीगढ़ से जाटव समाज के करीब 20-25 लोगों को बंधक बनाया और उन्हें लाकर भट्टे पर काम कराने लगा। इतना ही नहीं भट्टा मालिक ने वेतन भी नहीं दिया और मांगने पर उन्हें जान से मारने की धमकी तक दे डाली।
मामला उस समय उजागर हुआ जब यहां काम कर रही एक महिला ने भट्टा मालिक के खिलाफ आवाज बुलंद की और थाना दादरी में जाकर उसकी शिकायत कर डाली।
दर्ज रिपोर्ट के अनुसार राजेंद्र गुर्जर अपने भट्टे पर 20-25 लोगों को बंधक बनाकर पिछले कई महीने से काम करा रहा था। जब यहां काम कर रहे लोगों ने मेहनताना मांगा तो राजेंद्र गुर्जर ने उन्हें वेतन देने की बजाय उनके साथ मारपीट की और उन्हें डरा धमका कर काम कराता रहा। सोनाली पत्नी लीलाधार ने हिम्मत दिखाई और आप बीती पुलिस को सुना डाली।
ये सभी लोग अलीगढ़ के रहने वाले हैं और जाटव समाज से ताल्लुक रखते हैं। फिलहाल पुलिस इस मामले में जांच पड़ताल कर रही है। जांच पड़ताल के बाद ही पता चल सकेगा कि हकीकत क्या है। लेकिन प्राथमिक तौर पर मामला बंधक बनाकर काम कराने का ही नजर आ रहा है।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें