परिजनों को डराने धमकाने में जुटा एपीजे स्कूल प्रबंधन

जिस तरह से बाल भारती स्कूल ने अभिभावकों को डराया धमकाया था ठीक उसी तरह अब एपीजे स्कूल भी अभिभावकों को डराने में जुटा है। ये हरकत बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
यतेंद्र कसाना
अध्यक्षऑल नोएडा पैंरट्स एसो.

नोएडा। एपीजे के खिलाफ हमेशा अखबार वालों ने आवाज उठाई है। स्कूल प्रबंधको की मनमानी के खिलाफ ऑल नोएडा स्कूल पैरेंट एसोसिएशन ने मुहिम छेड़ दी है। एसोसिएशन के अध्यक्ष यतेंद्र कसाना ने बताया कि यूपी सरकार के फीस वृद्धि वाले अध्यादेश को स्कूल प्रबंधन नजरअंदाज कर रहे हैं। अध्यादेश में फीस बढ़ाने की सीमा तय की गई थी।
अब स्कूलों का एक समूह हाई कोर्ट गया है। हाई कोर्ट में 23 अगस्त को सुनवाई होनी है इसलिए स्कूल प्रबंधन बहाने बनाकर अभिभावकों को गुमराह कर रहा है ताकि कोर्ट से वो स्टे ले सके। तब तक स्कूल प्रबंधन अभिभावकों पर दबाव बनाकर उन्हें चुप करने की कोशिश कर रहे हैं। यतेंद्र कसाना ने बताया कि सेक्टर-16ए स्थित एपीजे स्कूल प्रबंधन छात्रों के परिजनों को डरा धमका रहा है ताकि वह उसके खिलाफ ना जाएं।
उन्होंने दावा किया कि अब तक कई अभिभावकों के पास स्कूल से फोन आ चुके हैं ताकि उनकी बुलंद आवाज को खामोश किया जा सके। जिस तरह से स्कूल प्रबंधन ऐसा रवैया अपना रहा है, वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। इस संबंध में एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी से भी मुलाकात की थी। इससे पहले इसी तरह का रवैया बाल भारती स्कूल ने अपनाया था। यहां की प्रधानाचार्य ने उन लोगों को धमकाया था जो फीस वृद्धि के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे थे। उन्हें उनके बच्चों को निकालने तक की धमकी भी दी। जिसके बाद अभिभावक थोड़ा सा नरम पड़े। हालांकि फिर भी आंदोलन करते रहे मामला पुलिस तक जा पहुंचा और तभी जाकर अभिभावकों एवं प्रिंसिपल के बीच समझौता हो सका।

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment