निजीकरण के खिलाफ कार्मचारियों का प्रदर्शन

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 1
    Share

साहिबाबद। औधोगिक क्षेत्र यू पी में स्थित मुनाफा अर्जित कर रहे संस्थान जोकि भारत की सुरक्षा से संबंधित जरूरी उपकरण बनाते हैं को केंद्र की मोदी सरकार दुवारा बेचे जाने के जनविरोधी, देश विरोधी कदम के खिलाफ़ लगातार जारी कर्मचारयों के आन्दोलन व 8-10-2018 से गेट पर चल रहे विरोध मीटिंग को 23-10-2018 को अनुराग सक्सेना, महामंत्री, सीटू दिल्ली राज्य कमेटी ने वहां सम्बोधन किया। स्थापना भारत मे क्यों की गई और क्यों आज भी इनकी देश को जरूरत है के बारे में विस्तार से रखा।
वर्तमान सरकार के तह्त नीति निर्धारण बड़े पूंजीपति के हितों को साधने के किये जा रहे हैं। नीति आयोग मे आज एसे लोगों को बैठा दिया है जो सिर्फ पूंजीपतियों की चाकरी कर रहे हैं । 1991 के बाद से जो भी दल सत्ता में आये वे इन्हीं नीतियों का अनुसरण किए । आज कुछ विपक्ष में तो वे आपके आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं ।
भा जा पा भी एसा ही करती थी। मगर विनिवेश का मंत्रालय वाजपयी सरकार के समय पर ही यही पार्टी लाएं जो अपने को देश भक्त व दूसरों को देश द्रोही कहतें हैं । वे आज सबसे बड़ा देश के खिलाफ़ काम कर रहे हैं ।
उन्होनें भारत सरकार को चेतावनी दी कि यदि उन्होँने ये जनविरोधी कदम वापस नहीं लिया तो सीटू पूरे ग़जिय़ाबाद जनपद में उन्के इस कुकर्म का आम जनता के बीच जाकर पर्दाफाश करेगी। जिसकी योजना भी संगठन में बनाई गई है । दिल्ली मे विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार का जल्द घेरओ भी किया जायेगा । सीटू इस संघर्ष को जीत के लिये हर प्रकार की मदद के कटीब्ध है ।इस अवसर पर जे पी शुक्ला महामंत्री गाजियाबाद जिला कमेटी, ईश्वर त्यागी, ब्रिजेश कुमार सिंह, जी एस तिवारी अन्य कारखानों के नेतायों व कार्यकर्ता के साथ समर्थन में मौजूद रहे ।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 1
    Share

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment