गठबंधन को टक्कर देने की बन रही रणनीति

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

दिल्ली में माया-अखिलेश की बैठक तो नोएडा में डॉ. महेश शर्मा के घर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे, रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ 40 सांसदों की हुई बैठक

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव की सरगर्मियां तेज हो चली हैं। दिल्ली में बसपा सुप्रीमो सुश्री मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच करीब साढ़े 4 घंटे तक बैठक चली। जिसके बाद खबरें आई कि दोनों के बीच गठबंधन होना तय हो गया है और सीटों के बंटवारे पर भी सहमति बन गई है।

वहीं, गठबंधन को चुनौती देने के लिए उत्तर प्रदेश के नोएडा में केंद्रीय मंत्री डॉ महेश शर्मा के घर बैठक शुरू हो गई। पार्टी सूत्रों के अनुसार इस बैठक में रेल मंत्री पीयूष गोयल और उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे के साथ-साथ करीब 40 सांसद शामिल हुए। इस बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर विस्तार से चर्चा की गई।

बताया जा रहा है कि गठबंधन का ऐलान होते ही भाजपा खेमे में खलबली मच गई है। यही कारण है कि अब भाजपा के बड़े नेताओं को रणनीति बनाकर ही चुनावी मैदान में उतरना होगा। डॉ महेश शर्मा के घर हुई बैठक के संबंध में जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने इतना ही बताया कि बैठक हुई थी लेकिन इससे ज्यादा वह नहीं बता सकते।

उन्होंने माना कि चुनाव आने वाला है और अब संगठन को मजबूत करने के लिए बैठकें तो करनी ही होंगी।

दूसरी ओर अखिलेश और मायावती की बैठक को लेकर भी राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं की जा रही हैं। माना जा रहा है कि यूपी में सपा-बसपा का गठबंधन होने के बाद भाजपा की राह बेहद मुश्किल हो जाएगी। अब इसे टक्कर देने के लिए ही भाजपा में मंथन किया जा रहा है।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें