कोहरे में हादसे रोकने की कवायद

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

ग्रेटर नोएडा। यमुना एक्सप्रेस-वे प्राधिकरण ने नोएडा से आगरा जाने वाले एक्सप्रेस वे पर हादसों को कम करने के लिए गति पर नियंत्रण पाने की कवायद शुरू कर दी है। प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह ने कोहरे में होने वाले हादसे रोकने के लिए जेपी ग्रुप के साथ मिलकर योजना बनाई है कि किस तरह यहां पर हादसों को कम किया जा सकता है।

इसके लिए प्राधिकरण की ओर से तैयारी की जा रही है कि कोई भी वहां 75 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ज्यादा वाहन को ना चला सके। उसकी गति की जांच के लिए प्राधिकरण कारगर कदम उठा रहा है।

सीईओ डा. अरुण वीर सिंह ने बताया कि आए दिन जब एक्सप्रेस वे पर वाहन चालक जाते हैं तो वे गति से नियंत्रण खो बैठते हैं। क्योंकि उनके मन में यह डर बिल्कुल नहीं है कि अत्यधिक गति पर वहां चलाएंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। लेकिन उन पर अंकुश लगाने वाला कोई नहीं है।

अत्यधिक गति ही सड़क दुर्घटनाओं का कारण बन रही है। जेपी ग्रुप की ओर से टोल प्लाजा ऊपर अधिक गति से चलने वाले वाहन चालकों पर कार्यवाही करने की तैयारी शुरू कर दी है। एक टोल प्लाजा से लेकर दूसरे टोल प्लाजा पर पहुंचने के समय से ही अंदाजा लगा लिया जाएगा की गाड़ी कितनी गति पर चल रही थी।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें