आरक्षण बिल पेश, कांग्रेस का हंगामा

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

नई दिल्ली। संसद के शीतकालीन सत्र का आज 18वां दिन है और आज सिर्फ राज्यसभा की ही बैठक है। एक बार हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही दुबारा शुरू की गई। जिसके बाद राज्यसभा में मंत्री ने संविधान (अनुसूचित जनजातियां) आदेश (संशोधन) विधेयक 2019 पेश किया। सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत ने सामान्य वर्ग को आरक्षण देने से जुड़ा 124वां संशोधन बिल राज्यसभा में पेश किया। जिसके बाद डीएमके सांसद कनिमोझी ने बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग की।

थावर चंद गहलोत ने बिल का परिचय देते हुए कहा कि इस बिल से लाखों-करोड़ों सामान्य वर्ग के गरीबों का सशक्तिकरण होगा और विचार-विमर्श के बाद ही यह बिल लाने का फैसला लिया है।
वहीं, सीपीआई सांसद डी राजा ने कहा इस तरह के बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजा जाना चाहिए क्योंकि यह काफी अहम संविधान संशोधन बिल है। कनिमोझी ने कहा कि पहले मेरे नोटिस पर चर्चा होनी चाहिए और इस बिल को पहले सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की जरूरत है।

कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने कहा कि हमारी पार्टी बिल के विरोध में नहीं है लेकिन सवाल व्यवस्था का है और इसके बारे में सदन को जानने का पूरा हक है। शर्मा ने कहा कहा कि बीएसी की ओर से समयसीमा तय नहीं की गई है, यह आपको सदन के भीतर बताना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पौने पांच साल सरकार की नींद टूटी है और सभी जानते हैं कि चुनाव की वजह से आप यह बिल लेकर आए हैं। उन्होंने कहा कि हमें दोष न दें।

उधर, कांग्रेस के सांसद मधुसूदन मिस्त्री ने कहा कि किसी बिल को पेश से दो दिन पहले उसकी कॉपी देनी पड़ती है, उन्होंने कहा कि एक दिन में बिल पर वोटिंग और उसका परिचय नहीं दिया जाता है। मिस्त्री ने कहा कि सदन जानना चाहता है कि सरकार को इस बिल को लाने की इतनी जल्दी क्यों है। उन्होंने कहा कि बिल अभी अधूरा है।

विजय गोयल ने इसके जवाब में कहा कि बैठक के बाद इस बिल पर 8 घंटे की चर्चा पर सहमति बनी है। कांग्रेस इस बिल को रोकने की कोशिश कर रही है।

आरक्षण पर भ्रम फैलाने वालों को करारा जवाब मिला : मोदी

आगरा। नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि कहा कि कल एक एतिहासिक बिल पास हुआ है। सामान्य वर्ग के लिए 10 फीसदी आरक्षण पर मुहर लगाकर सबके साथ सबके विकास पर आगे बढ़ाने का काम किया। हमारी सरकार ने सामाजिक न्याय की दिशा में काम किया है। मोदी ने कहा कि देश की एकता और अखंडता के साथ-साथ सामाजिक न्याय के लिए आरक्षण देने का काम किया।

मोदी बोले कि आरक्षण पर गुमराह किया जा रहा है. कल देर रात लोकसभा में एक ऐतिहासिक बिल पास हुआ है. सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण पर मुहर लगाकर, सबका साथ सबका विकास के मंत्र को और मजबूत करने का काम किया गया है।

पीएम ने आरक्षण को लेकर विपक्ष पर करारा हमला किया और कहा कि विपक्ष देश को जनता को गुमराह कर रहे थे। हमनें कल लोकसभा में दलितों, आदिवासियों और ओबीसी को जो आरक्षण मिलता है उसमें बिना निकालकर सामान्य वर्ग को आरक्षण देने का काम करके दिखाया है। इससे विपक्ष के मुंह पर करारा तमाचा है। मोदी ने कहा कि आरक्षण बिल जिस प्रकार लोकसभा में पास हुई है। मैं उम्मीद करता हूं कि उसी प्रकार से राज्यसभा में भी मंजूरी मिलेगी। पीएम ने कहा कि यह समय राष्ट्रहित और जनहित में कड़े और बड़े फैसले लेने का है, राजनीतिक इच्छाशक्ति का है। सबका साथ, सबका विकास हमारी सरकार का संस्कार रहा है और यही हमारा सरोकार रहा है। इसे लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment